टैगोर की पेंटिंग को जब हिटलर ने म्यूज़ियम से हटवा दिया

Anyway, Getty Images

कुल पांच कलाकृतियां थीं जिनमें इंसान इंसान इंसान चिड़िया लाल रंग की पोशाक में एक लड़की थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी थी लड़की लड़की ये के सबसे मशहूर कवि रवींद्रनाथ टैगोर की कूची से बनी बनी पेंटिंग्स थीं थीं. There is a high probability that the problem will occur.

टैगोर ग़ैर ग़ैर थे जिन्हें साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था था. उन्होंने ये पेंटिंग साल 1930 में जर्मनी को में मेी ी ी ी ी ी ी ी ी सात बाद जर्मनी के नाज़ी शासन ने इन पेंटिंग को हटा दिया क्योंकि उस समय हिटलर की नाज़ी सरकार कलाकृतियों को को भ्रष्ट बताकर अनुचित अनुचित हुए म्यूज़ियम से हटा थी थी थी. हिटलर का था कि पोस्ट पोस्ट इंप्रेशनिस्ट मॉर्डन आर्ट आर्ट विक्षिप्त दिमाग़ का प्रमाण प्रमाण है और इसलिए हिटलर ने ने 16,000 कलाकृतियों को को म म म आदेशक आदेश आदेश दे दे दियदिय दिय दिय ASC.

नाज़ियों ऐसी ऐसी कला को भ्रष्ट भ्रष्ट भ्रष्ट माना और उनका मज़ाक बनाने के लिए प्रद प्रद ie का भी आयोजन किय किया किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *